वाह! वाह! राखी.... हाय..हाय.. राहुल..

मैंने तो पहले ही कहा था....जोड़ियाँ  आसमान में बनती है | फिर स्वयंवर के नाम  पर दूसरे लोगों और अपने आप से मज़ाक किये जाने का क्या मतलब...??  राखी....क्या कहूँ इनके बारे में, पहले तो शादी के नाम पर क्या सीधी - साधी लड़की बनने का ड्रामा,जो इन्होंने किया वो काबिले तारीफ़ था | हिन्दुस्तानी लड़की की ही तरह शर्म और हया की मर्याद में रहने और होने के नाम की माला जो राखी पूरे शो के दौरान जप रही थी...उसी माला को (शो में वर के रूप में चुने गए इलेश परुजनवाला के साथ एक और शो जिसका नाम पति पत्नी और वो था) खुद इन्होंने ही तार तार करके रख दिया | उसके बाद कितनी सफाई से सोच -विचार, संस्कार और लाइफ स्टाइल बिलकुल अलग होने का कारण देकर इलेश को अपनी ज़िन्दगी से दूध में से मक्खी की तरह निकल कर फेंक दिया | तो राखी जी इसे हम आपका इलेश परुजनवाला के साथ किया गया धोखा समझे या "पब्लिसिटी स्टंट" | खैर..
अब तक हम इस किस्से को भूले भी नहीं थे की हमे गुफ्तगू करने के लिए एक और मौका मिल गया....
जहाँ  रसिया राहुल महाजन बिग बॉस के बाद एक बार फिर अपने साथ पंद्रह सुंदरियों के साथ  के रास लीला के अखाड़े में उतरे और जनता के सामने अपनी इस हरकत को  नाम दिया  " स्वयंवर".... का | इस  शो में राहुल का दिल जितने की जद्दो जहद में सभी सुन्दरियों ने अपनी जान लगा दी...लेकिन राहुल का दिल डिम्पी ले गयीं | आखिरकार ६ मार्च हो धूम धाम से हुई शादी आज टूटने की कगार पर है | तो राहुल अब आगे क्या करने का इरादा है....?
 
अब देखना यह है, कि....इन दोनों कि हरकत और हालत से किसी को सबक मिलता है....या सब के सब.... कुएं के मेंढक बने एक ताल पर ही नाचेंगे|

2 Response to "वाह! वाह! राखी.... हाय..हाय.. राहुल.."

  1. ललित शर्मा says:
    August 1, 2010 at 9:58 PM

    किसी की जिन्दगी से खिलवाड़ करने वाले लोग जुतियाए जाने के काबिल हैं। शादी कोई गुड्डे गुड़ियों का खेल नहीं है, जिसे इन लोगों ने तमाशा बना कर रख दिया।

  2. पवन धीमान says:
    August 3, 2010 at 5:54 AM

    यहाँ वह सब कुछ ही तो दिखाया जाता है, जो कुछ हम देखना चाहते हैं ...आपका आलेख सटीक व्यंग्य है हम सब पर भी, जो इस नौटंकी का हिस्सा हैं .

Post a Comment